Raaj Rhne do…

Manu_creation

छुपे आवाज रहने दो।
कुछ राज,राज रहने दो।
कुछ राज,राज रहने दो।।

चहचहाती चिड़ों से,सनसनाती रात है बेहतर।
सफर‘ इन चिलचिलाती धुपों से,एतराज है बेहतर।।
दर्द ज्यादा है,सोचकर तोड़ों मत सपनों को।
कुछ करते हैैं,कहकर छोड़ो मत अपनों को।
कुरेदों नहीं,भले ही खाज रहने दो।

कुछ राज,राज रहने दो।
कुछ राज,राज रहने दो।।

भली कटती नहीं साहब,जिंदगी हैं।
भटकता वो भी चोले में, गंदगी हैं।।
बयां कर भी नहीं सकता, हलात-ए-जिंदगी
दस्तक दिए कितनों के अब,”क्यूं बंदगी“?
अंधेरा ही सही,बंद दराज रहने दो।।
कुछ राज,राज रहने दो।
कुछ राज,राज रहने दो।

कुछ सोचा था हमने, अपनों के लिए।
सवाल-ए-ज़ख्म भी उनका था,”किसलिए“?

नज़रें नहीं सिर्फ,मन में उठा था बवंडर।
आयी तो थी,सिमट गई बंद होठों के अंदर।।
चुभती ही सही,सिमटे अल्फ़ाज़ रहने दो।
कुछ राज,राज रहने दो।
कुछ राज,राज रहने दो।।

#Manu_creation#
By:- @Roy Manu

#DedicatedLove

Kuchh Alag*

Kaise karun wo Jesus,Mai Tera Gungan.

dono Hi achhe lagti hain…

Shaam ki aarti ,subah ki aajan.

Hain maanav O waahe guru Aap_di sukragujar.

Sukun toh dono jagah hai…

Mahakal ka mandir,Pirbaba ka mazar

Kyun hai??

Iss Sahar me Mera naam kyun hai.

Dundhta tha Mai jisko sapnon me wo saksh benaam kyun Hain.

Log karte Hain khidmat jiski laga uspe iljaam kyun hai.

Saham jata Mai jis pal ko wo,nakam kyun hai.

Betuki si wo baaten Teri,lafzen belagaam kyun hai.

Chuupaya tha Mai Jin afbaahon ko, bazar-ye-sareaam kyun hai.

Lagta hai darr un sansanati hawaaon se,beasar-ye-dard aram kyun hai.

Basta hai inssan hi phir,wo galliyan badnam kyun hain

Iss Sahar me Mera naam kyun hai

Baaten ❤ ki…

12027781_133280100356322_2778603336972620191_n.jpg

  • *बातें दिल की…*
    इस सहर की बेवाकियों में
    तेरा कोई तान गुन गुनाना |

जुगनू सी झिल मिलाती
तेरा-मेरा रुठना मनाना ||

  • मै तुझसे मिलना चाहा
    मिला, ये कोई साजिश नही |

तेरा प्यार और तू भी
आशियाँ, है मेरे दिल का
कोई अधूरी ख्वाहिश नही ||

  • वक्त-बे-वक्त खुद पे
    पहरा लगा लेना |

गर् कोई रात सताये
शम्में जला लेना ||

ये पीक की किहुक है 
जो सहर डरी सी |

कुछ लम्हें थे साथ के तेरे
वो भी तड़प रही थी |||
By :Manu..

MAHASHIVARATRI.. Happy Mahashivaratri..

httpsi1_wp_comthefreshimages_comwp-contentuploads201708lord-shiva-images-9

देवों के देव,तु महादेव!
काल भि तु,महाकाल भि तु,
तेरा तांडव भि और ध्यान भि।
है अविचल तु,निश्छल अविकारी,
बसहावन प्रभु,जगद् प्रतिकारी।
ध्रुम-अतिशाप है,संपदा तेरे,
शुभ्र नवरस,येोवन बख्शो प्रभु मेरे।
प्रेत-पिशाचनी संगिनी तेरी,
भंग-तमंग,अति लुब्धन मेरी।

हर -हर महादेव!
#Manu:the man.

लापरवाह !

wp_ss_20180207_0007 (2)
दुनिया कि भिड़ में हम,कुछ मनचले सें,
अनबन रही है सबसे,फिर भी पिघले सें।
मनोभावना हमारी,होती रही तार-तार,
निकलें थे परवरिश को,लांघ नही पाये दीवार।
तप्त शिलाओं पे अवनि मचलते रहे,
दिल थमा रहा,लम्हे गुजरते रहे…………🕵
#MANU:the man: